राज्यव्यापी एफ.एम.डी. टीकाकरण अभियान का शुभारंभ

क्राइम जर्नलिस्ट(टीम)

राज्यव्यापी एफ.एम.डी. टीकाकरण अभियान का शुभारंभ

जयपुर 12 अक्टूबर। गौ एवं भैंस वंशीय पशुओं को खुरपका-मुहँपका बीमारी से बचाने के लिये राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत प्रदेशव्यापी खुरपका- मुहँपका रोग टीकाकरण अभियान 12 अक्टूबर से प्रारम्भ किया गया है।

यह जानकारी देते हुये पशुपालन मंत्री श्री लालचंद कटारिया जी ने बताया कि इस रोग के कारण प्रदेश के पशु पालको को काफी आर्थिक हानि उठानी पड़ती है। उन्होंने बताया कि एक अनुमान के अनुसार देश में एफ.एम.डी. से लगभग 20 हजार करोड़ रूपये की आर्थिक हानि होती है ओर दूध का उत्पादन लगभग 50 प्रतिशत तक कम हो जाता है।

श्री कटारिया ने बताया कि इस रोग से बचाव हेतु सभी पशुपालकों को चाहिये कि वे अपने पशुओं के टैग जरूर लगवायें तथा दुधारू पशुओं को छः-छः माह के अन्तराल पर वर्ष में दो बार टीका अवश्य लगायें ताकि अभियान से आने वाले समय में एफ. एम. डी. रोग नियंत्रित कर धीरे-धीरे इस रोग का समूल रूप से उन्मूलन किया जा सके।

पशुपालन, डेयरी एवं मत्स्य विभाग के शासन सचिव, डॉ. राजेश शर्मा ने बताया कि एफ.एम.डी. टीकाकरण हेतु विगत 05 वर्षों से टीकाकरण कार्यक्रम सम्पादित किया जा रहा है परन्तु इस वर्ष से प्रारंभ किया जाने वाला टीकाकरण अत्यंत विशिष्ट है क्योकि इसके अन्तर्गत टीकाकरण किये जाने वाले प्रत्येक पशु के कान में 12 नम्बर का यूनिक आई.डी.-बार कोड़ युक्त टैग लगाया जावेगा तथा पशु-पशुपालक एवं टीकाकरण की समस्त सूचनाओं को राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड (एन.डी.डी.बी.) द्वारा विकसित किये गये सॉफ्टवेयर इनॉफ पर (INFORMATION NETWORK FOR ANIMAL PRODUCTIVITY & HEALTH : INAPH) इन्द्राज किया जावेगा। पशुओं के ईयर टैग लगाये जाने तथा इनॉफ सॉफ्टवेयर पर इसके स्वास्थ्य, प्रजनन एवं वंशावली के रिकार्ड के संधारण के इस डिजिटलाईजेशन के प्रयास से पशुपालकों को अपने पशुओं के लिये एक नवीन ई-मार्केट की व्यवस्था में सम्मिलित होने के अवसर मिल सकेगें।

योजना प्रभारी डॉ. भवानी सिंह राठौड़ अतिरिक्त निदेशक (स्वास्थ्य) ने बताया कि 12 अक्टूबर से शुरू किया गया एफ़ एम डी वैक्सीनेशन अभियान के प्रथम चरण में 12 अक्टूबर से राज्य के 18 जिलों के समस्त गोवंश एवं भैंसवंश में 149 लाख पशुओ का टीकाकरण किया जाएगा तथा 4 से 5 माह की उम्र के बछड़े-बछड़ियों को प्रारिम्भक वैक्सीन के एक माह पश्चात 24 लाख पशुओं का बूस्टर वैक्सीनेशन सहित कुल 173.33 पशुओं का टीकाकरण व टैगिंग का कार्य किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अभियान की सफलता के लिये विभागीय स्तर पर व्यापक तैयारियां की जा चुकी है।

उन्होने बताया कि राज्य के शेष 15 जिलों में एफ.एम.डी. रोग प्रतिरोधक टीकाकरण शीघ्र ही प्रारंभ किया जावेगा। जिसमें 115 लाख (99 लाख टीकाकरण तथा 16 लाख बुस्टर टीकाकरण) केे लक्ष्य निर्धारित किये गये है।

डॉ. उम्मेद सिंह,जिला संयुक्त निदेशक पशुपालन विभाग जयपुर ने बताया कि जयपुर जिले में 100 प्रतिशत टीकाकरण व टैगिंग के लक्ष्य को निर्धारित समय सीमा में प्राप्त करने का प्रयास किया जाएगा। इस हेतु माइक्रो लेवल पर योजना बना कर संस्थाओं को लक्ष्य वितरित किये गये है।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x