आज रात आठ बजे से पैतीस घंटों के लिए लगा कोरोना क‌र्फ्यू,जानिए किसे मिलेगी  क्या छूट

क्राइम जर्नलिस्ट(सम्पादक-सेराज खान)

आज रात आठ बजे से पैतीस घंटों के लिए लगा कोरोना क‌र्फ्यू, जानिए किसे मिलेगी क्या छूट।

सोनभद्र । कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए जिले में आज रात आठ बजे से 35 घंटे के लिए कोरोना क‌र्फ्यू लगाया जा रहा है। इस दौरान नियमों की अनदेखी करने वालों पर कार्रवाई होगी। डीएम ने इसके लिए आदेश जारी किए हैं।

जिले में कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। शासन के निर्देशों के तहत जिले में शनिवार रात आठ बजे से कोरोना क‌र्फ्यू लगाने के निर्देश दिए गए हैं। जिला प्रशासन की ओर से 35 घंटे का क‌र्फ्यू लगाया गया है, जिससे सोमवार सुबह सात बजे तक लागू किया गया है। क‌र्फ्यू के दौरान पंचायत चुनाव से जुड़ी पोलिग पार्टियों, स्वास्थ्य व सफाई कर्मियों के अलावा अन्य लोगों के आवागमन पर प्रतिबंध लगाया गया है। इसके साथ ही जिले में अग्निशमन, नगर पंचायत व नगर पालिका व ग्राम पंचायत स्तर पर स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा। इसके साथ ही जिला प्रशासन की ओर से मास्क को अनिवार्य किया गया है। जिला प्रशासन ने बिना मास्क के पहली बार पकड़े जाने पर एक हजार व दोबारा पकड़े जाने पर 10 हजार रुपये जुर्माना वसूलने के निर्देश दिए हैं। वहीं पुलिस को भीड़भाड़ व चौराहों सहित अन्य स्थानों पर चेकिंग करने मास्क अनिवार्यता सुनिश्चित कराने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

डीएम अभिषेक सिंह ने बताया कि शनिवार रात आठ बजे से 35 घंटे के लिए क‌र्फ्यू लगाया गया है। इस दौरान आवश्यक सेवाओं/पंचायत चुनाव से जुड़ी पोलिंग पार्टियों/स्वास्थ्य सेवाओं/सफाई आदि से जुड़े हुए कर्मियों एवं नामांकन हेतु जाने वाले व्यक्तियों के अतिरिक्त कोई अन्य आवागमन अनुमन्य नहीं होगा। शादी-विवाह हेतु अनुमन्यता पूर्व निर्धारित शर्तों के अधीन सम्बन्धित उप जिलाधिकारी के स्तर से निर्गत की जायेगी, किन्तु कार्यक्रम स्थल पर (बन्द कमरे में अधिकतम 50 व्यक्ति एवं खुले स्थान पर अधिकतम 100 व्यक्तियों) की उपस्थिति ही अनुमन्य रहेगी। बिना मास्क पकड़े जाने पर आदेश का अनुपालन न होने की दशा में पहली बार ₹1000/- तथा दूसरी बार अधिकतम ₹10000/- तक का जुर्माना किया जा सकेगा। पंचायत चुनाव से जुड़े पोलिंग पार्टी कर्मियों अथवा चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों, समर्थकों को परिचय-पत्र रखना अनिवार्य होगा। दाह-संस्कार अथवा अन्तिम संस्कार के समय 20 व्यक्तियों से अधिक की उपस्थिति अनुमन्य नहीं होगी। सार्वजनिक परिवहन, विशेष रुप से राज्य परिवहन निगम की बसों को अधिकतम 50 प्रतिशत तक की क्षमता में ही संचालन करना अनिवार्य रहेगा। इस दौरान नियमों की अनदेखी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x