कोर्ट बन्दी में लगे मुकदमो को लेकर प्रधान न्यायाधीश कुटुम्ब न्यायालय उत्कर्ष चतुर्वेदी की जारी सूचना से सबको मिली राहत,डेट व कार्यवाही की जानकारी के लिए नहीं झेलनी पड़ेगी आफत

Crime Journalist (सम्पादक – सेराज खान)

ब्यूरो चीफ सुल्तानपुर – आकृति अग्रहरि

*कोर्ट बन्दी में लगे मुकदमो को लेकर प्रधान न्यायाधीश कुटुम्ब न्यायालय उत्कर्ष चतुर्वेदी की जारी सूचना से सबको मिली राहत,डेट व कार्यवाही की जानकारी के लिए नहीं झेलनी पड़ेगी आफत*

*न्यायिक कर्मियों के कोरोना पॉजिटिव आने पर वादकारियों व अधिवक्ताओं की सुविधा के लिए प्रधान न्यायाधीश ने बनाई व्यवस्था*

*फैमिली कोर्ट की सभी अदालतों पर बन्दी में लगे मुकदमो की सुनवाई व नियत अग्रिम तिथियों के बारे में जारी की गई पूरी जानकारी*

*जिला जज सन्तोष राय ने भी सभी सत्र न्यायालयो,मजिस्ट्रेटों व सिविल जजो की अदालतों में लम्बित मुकदमो के बारे में जारी की है सूचना*

*सुल्तानपुर -* कुटुम्ब न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश उत्कर्ष चतुर्वेदी ने कोरोना संक्रमण को लेकर दो दिन तक हुई कोर्ट बन्दी में लगे मुकदमो के लिए बनाई सुविधाजनक व्यवस्था, जज उत्कर्ष चतुर्वेदी की इस पहल से वादकारियों व अधिवक्ताओं को लगे मुकदमो की जानकारी के लिए नही लगाने होंगे कोर्ट व आफिसों के चक्कर,सबको प्रधान न्यायाधीश की इस सूझ-बूझ की व्यवस्था से कोरोना की आफत के बीच मिलेगी बड़ी राहत, जिला न्यायालय में तैनात स्टेनो समेत तीन न्यायिक कर्मियों के कोरोना संक्रमण का शिकार होने के चलते गुरुवार व शुक्रवार को अदालते बन्द होने से न्यायिक कामकाज में पड़ी अचानक बाधा,जिला जज संतोष राय ने जिला न्यायालय-कोर्ट कैम्पस तो प्रधान न्यायाधीश कुटुम्ब न्यायालय उत्कर्ष चतुर्वेदी ने फैमिली कोर्ट कैम्पस की साफ-सफाई व सेनेटाइजेशन के लिए कोरोना संक्रमण के मद्देनजर जारी निर्देशों के पालन के लिए जारी किया है आदेश, जारी सूचना के मुताबिक प्रधान न्यायाधीश एवं अतिरिक्त प्रधान न्यायाधीश की अदालतो पर 15 अप्रैल को बहस में लगे मुकदमों में 29 अप्रैल को होगी सुनवाई, वहीं 16 अप्रैल को बहस की कार्यवाही में लगे मुकदमों में 30 अप्रैल को होगी सुनवाई,बहस की कार्यवाही से जुड़े मुकदमों के अलावा अन्य कार्यवाही से जुड़े 15 अप्रैल को लगे सिविल मुकदमों में आगामी 28 मई की सामान्य तिथि तो फौजदारी वादों में 11 जून की सामान्य तिथि की गई नियत, वहीं 16 अप्रैल को बहस के अलावा लगे अतिरिक्त सिविल मुकदमों में 29 मई एवं फौजदारी मुकदमों में 14 जून की सामान्य तिथि की गई नियत,हाईकोर्ट की नई गाइडलाइन के क्रम में प्रधान न्यायाधीश उत्कर्ष चतुर्वेदी ने 17 अप्रैल से फैमिली कोर्ट संचालन को लेकर जारी की नई व्यवस्था, 17 अप्रैल से सिर्फ चलेगी प्रधान न्यायाधीश की अदालत, ज्यादा आवश्यकता पड़ने पर ही खुल सकेगी अतिरिक्त कुटुम्ब अदालतें, अति आवश्यक सिविल व फौजदारी मामलो में ही होगी सुनवाई, ईमेल के माध्यम से अधिवक्ता/वादकारी भेज सकेंगे मुकदमो में आवश्यक प्रार्थना पत्र, नए मुकदमो का जारी निर्देशो के मुताबिक केन्द्रीयकृत कम्प्यूटर केंद्र पर होगा दायरा, नये मुकदमो के प्रार्थना पत्रो पर अधिवक्ता या वादकारियों का मोबाइल नम्बर देना होगा अनिवार्य, जिससे किसी प्रकार की कमी होने की दशा में दी जा सके सूचना, न्यायालय कक्ष में अधिवक्ताओं के बैठने के लिए निर्धारित दूरी पर होगी चार कुर्सियों की व्यवस्था, सूचीबद्ध मुकदमो से जुड़े अधिवक्ताओं को ही कोर्ट में मिलेगी इंट्री, केस की सुनवाई होते ही अधिवक्ताओं व वादकारियों को छोड़ना पड़ेगा कोर्ट परिसर, मास्क पहनने के अलावा अन्य निर्देशो का पालन करना होगा अनिवार्य, जरुरत पड़ने पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के भी माध्यम से शुरू की जा सकती है सुनवाई, 50 प्रतिशत से अधिक कर्मचारियों को प्रवेश की नही है अनुमति, कुटुम्ब न्यायालय में हुए कार्यो के विषय मे प्रतिदिन हाईकोर्ट को देनी होगी सूचना,
*वहीं जिला जज* ने भी सत्र न्यायालयो, मजिस्ट्रेटों व सिविल जजो की अदालतों में 15 व 16 अप्रैल को लगे सभी प्रकार के जमानत प्रार्थना पत्रो व मुकदमो के बारे में जारी की तिथियों की सूचना, 15 अप्रैल को लगे अग्रिम व अंतरिम जमानत प्रार्थना पत्रो में 20 अप्रैल को तो 16 अप्रैल को लगे इन जमानत प्रार्थना पत्रो में 22 अप्रैल को होगी सुनवाई, सभी सत्र न्यायालयो में नियत नियमित जमानत प्रार्थना पत्रो में 26 अप्रैल को होगी सुनवाई, सत्र न्यायालयो में 15 अप्रैल को लगे अन्य मुकदमो में 5 मई तो 16 अप्रैल को लगे अन्य मुकदमो में 6 मई की सामान्य तिथि हुई नियत,मजिस्ट्रेट की अदालतों में लम्बित 15 अप्रैल को नियत सभी जमानत प्रार्थना पत्रो में 20 अप्रैल को तो 16 अप्रैल को लगे जमानत प्रार्थना पत्रो में 22 अप्रैल को होगी सुनवाई, सिविल जज प्रवर खण्ड व सिविल जज अवर खण्ड की अदालतों में 15 अप्रैल को नियत मुकदमो में 23 मई की तो 16 अप्रैल को नियत मुकदमो में 24 मई की सामान्य तिथि नियत,15 व 16 अप्रैल की तारीख में सभी अदालतों में बहस की कार्यवाही में लम्बित मुकदमो में क्रमशः 29 अप्रैल व 30 अप्रैल की सामान्य तिथि जिला जज ने की नियत,कोरोना को लेकर जारी निर्देशो का पालन करना होगा अनिवार्य,जिला जज एवं प्रधान न्यायाधीश कुटुम्ब न्यायालय के जरिये जारी की गई सूचना से वादकारियों व अधिवक्ताओं को मिली बड़ी राहत।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x