राजस्व और पुलिस का चोली दामन का रिश्ता,हमसे आपसे जो सीखा अब बड़ी जिम्मेदारी के रूप में साबित करना है – ए डी एम सोनभद्र

क्राइम जर्नलिस्ट(टीम)

राजस्व और पुलिस का चोली दामन का रिश्ता,हमसे आपसे जो सीखा अब बड़ी जिम्मेदारी के रूप में साबित करना है – ए डी एम योगेन्द्र बहादुर सिंह

दुद्धी/ सोनभद्र|13 महीनों से नायब तहसीलदार पद पर रहे सूर्यबली मौर्या को आज तहसील सभागार में राजस्वकर्मियों ने भावभीनी विदाई दी| पीपीएस हो चुके नायब तहसीलदार सूर्यबली मौर्य अब ट्रेनिंग उपरांत पुलिस विभाग में बतौर पुलिस क्षेत्राधिकारी सेवाएं देंगे।

विदाई समारोह में संचालन कर रहे प्रदेश सह सचिव लेखपाल संघ तेजबली मौर्या ने कहा कि 25 वर्षों की कार्यकाल में ऐसे ऊर्जावान अधिकारी को नहीं देखा।जो कार्य मे ऐसी तत्परता रखते थे कि उस काम को आज ही निपटाने की क्षमता रखते थे। दुद्धी में 24 दिन के कार्यकाल के बाद ही ये पीपीएस चुन लिए गए। नायब साहब का अधिकारियों व छोटों के बीच अच्छा समन्वय था।

इसके बाद उनके सम्मान में उन्हों गीत अभी अलविदा ना कहना भी गाया ।
तहसीलदार सुरेश चंद्र ने कहा कि आज नायब साहब की विदाई समारोह है , हमारे साथ 15 दिनों कार्यकाल रहा है ,आज ये हम से अलग हो रहे है , इतने दिनों में ही इन्होंने हमारे दिल से इतनी जगह बना ली कि कभी जुदा नही होंगे।

उपजिलाधिकारी रमेश कुमार ने कहा कि निश्चित रूप से आज का दिन अपने का बिछड़ने का दिन है ,हमे जनपद में आये 7 माह हों गया लेकिन ऐसा ऊर्जावान अधिकारी नहीं देखा, आपने टीम भावना से कार्य कोविड के दौरान किया वह सराहनीय है। दुद्धी में मेरे एक माह के कार्यकाल के दौरान आपकी कार्यशैली जो देखा वह सराहनीय रहा है | किसी भी अधिकारी की कार्यकुशलता अधीनस्थों पर निर्भर रहता है आपका सहयोग सराहनीय रहा ।आप राजस्व में कार्य कर चुके है और आने वाले समय मे आप पुलिस के बहुत अच्छे अधिकारी बनेंगे ,मेरी शुभकामनाएं साथ है।

नायब तहसीलदार सूर्यबली मौर्य ने भावुक होकर कहा कि मेरा सौभाग्य रहा कि इस जिले में जब कदम रखा तो एडीएम साहब के साथ निर्देशन में कार्य किया और आज विदाई में वो मेरे बीच है।कहा कि दुद्धी का कार्यकाल अच्छा रहा यहां के लोग बहुत अच्छे है अगर जिंदगी में मिला तो बतौर एसपी ,एडिश्नल या पुलिस क्षेत्राधिकारी जरूर आऊंगा।

विदाई समारोह की अध्यक्षता कर रहे मुख्यतिथि एडीएम योगेंद्र बहादुर सिंह ने कहा कि राजस्व व पुलिस का संबंध चोली दामन का है , ये हमारे बीच ही रहेंगे ये हमसे दूर नही जा रहे , दुद्धी में पोस्टिंग इनकी पहली पोस्टिंग रही इन्होंने ट्रेनिंग में लेखपालों बहुत कुछ सीखा। अब आपने क्या सिखाया है अब ये पुलिस में जाएंगे तो इनकी योग्यता देखने योग्य होगी।

आप लोगो ने ही इन्हें ट्रेंड किया है।जब ये जिले में आये तो इन्हें तराशने का सोचा था कि इनका चयन पीपीएस में हो गया। सीखने की ललक हमेशा इंसान में होनी चाहिए।जो इन्होंने आपसे सीखा और हमसे सीखा उसका प्रयोग अपने विभाग में कैसे करेंगे यह हमें देखना है।ये जहां भी जाये वहां कुछ ऐसा काम करे कि लोगों के बीच प्रशासन के प्रति सम्मान जगे।आप समाज को एक नई दिशा दे और खूब तररकी करें यही मेरी शुभकामना है।इसके बाद कोविड में उत्कृष्ट सेवा करने वाले लेखपालों को प्रशस्ति पत्र एडीएम व उपजिलाधिकारी ने संयुक्त रूप से प्रदान किया| इसके बाद नायब तहसीलदार सूर्यबली मौर्य को थोड़ी खुशी व थोड़े गम के बीच रुखसत किया इस दौरान श्री मौर्या की आंखे भर आयी।

इस मौके पर कानूनगो मनेही राम ,कानूनगो मो आरिफ के साथ लेखपालों में राघवेंद्र वर्मा ,संतोष यादव , जटाशंकर मौर्या ,संतोष दुबे, अनिल मौर्या , अशोक सिंह ,अनिता गुप्ता , रेशमा सिंह के साथ अन्य लेखपालों ने विदा हो रहे नायब तहसीलदार को स्मृति चिन्ह ,अंगवस्त्रम व उपहार भेंट किये| मीडिया साथियों दीपक कुमार जयसवाल हिंदुस्तान संवाददाता ,जितेंद्र चंद्रवंशी सोन प्रभात न्यूज सम्वाददाता, रवि सिंह जागरूक एक्सप्रेस सम्वाददाता ने स्मृतिचिन्ह भेंट किया और उज्जवल भविष्य की कामना की।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x