जमगांव में कोरोना संक्रमित की संख्या मिलने से, दहशत

क्राइम जर्नलिस्ट(टीम)

जमगांव में कोरोना संक्रमित की संख्या मिलने से, दहशत।

शाहगंज। जिस तरह से 1 सप्ताह के भीतर ग्राम पंचायत जामगांव में कोरोना संक्रमित की संख्या मिलने से संबंधितओं के हाथ पाव फूलने लगे हैं, इसके पीछे वजह प्रशासनिक उदासीनता और लापरवाही माना जा रहा है।
ग्राम पंचायत जमगांव यदि समय रहते जल्द निर्णय न लिया गया तो निश्चित रूप से कोरोनावायरस की संख्या में इजाफा हो सकता है।
मिली जानकारी के अनुसार पिछले सप्ताह मुंबई से आने वाले 10 से 15 युवकों की टोली में मात्र दो ही युवकों के पॉजिटिव होने से पूरे क्षेत्र में दहशत और भय का माहौल व्याप्त हो चुका है।
इस संदर्भ में ग्राम प्रधान मार्तंड प्रताप सिंह ने बताया कि लगभग 15 युवकों की टोली हमारे ग्राम पंचायत में मुंबई से आने का समाचार प्राप्त हुआ है, निलेश पुत्र बाबूलाल का एंटीजन किट् के माध्यम से कोरोनावायरस से संक्रमित मिला, वही अरुण चौरसिया पुत्र भगवानदास मुंबई से आने के पश्चात सीधे अपनी जांच संयुक्त चिकित्सालय लोढ़ी पर करवाने के पश्चात संक्रमित पाया गया
उप जिलाधिकारी घोरावल जैनेंद्र सिंह ने बताया कि जल्द ही ग्राम पंचायत में स्वास्थ्य विभाग की टीम से जांच करवाया जाएगा हालांकि प्रश्न यह उठता है आखिर समय रहते क्यों नहीं कदम उठाए गए, कुछ ग्रामीणों ने दबी जुबान से बताया कि जिस तरह से निलेश पुत्र बाबूलाल मुंबई से आने के पश्चात भिन्न-भिन्न जगहों पर घुमा ,ऐसे में अधिक से अधिक लोगों के संक्रमण फैलने की आशंका जताई जा रही है स्थिति जो भी हो एक बड़ी लापरवाही ग्राम पंचायत जब गांव में ग्रामीणों द्वारा देखी जा रही है यदि पहले से ही बाहर से आए हुए युवकों की टोली की जांच हुई होती तो निश्चित रूप से संक्रमित ओं की संख्या में बढ़ोतरी होने से रोका जा सकता था मगर ऐसा नहीं हुआ, प्रशासनिक उदासीनता की ताजा स्थिति यह है जिस घर में यह संक्रमित पाए गए हैं उनके घरों के आसपास कोविड-19 के नियमों का पालन नहीं हुआ है ना ही लगभग 20 घरों के आने-जाने हेतु बैरिकेटिंग की गई।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x