किसान सम्मान निधि निकालने गए वृद्ध को देखकर बौखलाए प्रबंधक ने पासबुक फाड़ा

क्राइम जर्नलिस्ट(सम्पादक-सेराज खान)

किसान सम्मान निधि निकालने गए वृद्ध को देखकर बौखलाए प्रबंधक ने पासबुक फाड़ा।

दुद्धी/ सोनभद्र/आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र दुद्धी में आदिवासियों के साथ बैंक प्रबंधक का बर्ताव कैसा है इसकी बानगी इंडियन बैंक शाखा दुद्धी में देखने को मिला। किसान सम्मान निधि निकालने कल सोमवार को बैंक पहुँचे 77 वर्षीय गुलालझरिया के वृद्ध को देखकर बैंक प्रबंधक बौखला गए और उसके पासबुक फाड़ दिया ,बुजुर्ग के साथ आयी उसकी बहु ने जब पैसे दिए जाने की मांग को बवाल करना शुरू किया तब जाकर 6 घंटे बाद उसे पैसा दिया गया। 4 हजार के विथड्राल भरने पर 19 सौ रुपये का भुकतान किया गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार दयाली गोंड 77 वर्ष पुत्र करीमन अपने पुत्र वधू माया देवी के साथ किसान सम्मान निधि का पैसा निकालने के लिए कल सुबह 11 बजे कस्बा स्थित इंडियन बैंक/ इलाहाबाद बैंक शाखा दुद्धी आये थे ,दिन भर बैंक प्रबंधन द्वारा सर्वर फेल होने का बहाना बनाते हुए बैंक में बैठाए रखा ,और अन्य लोगों को पैसे का भुकतान किया जा रहा था ,जब वृद्ध किसान के पुत्र वधू ने इसकी शिकायत जब बैंक प्रबंधक से की तो वे बौखला गए औए पास बुक फाड़ दिया ,और जमकर खरी खोटी सुनाई जब पुत्रबधू ने बैंक में प्रबंधक के करतूतों से बवाल कटाना शुरू किया तो मामला को तूल पकड़ता देख बैंक प्रबंधक ने 4 हजार का विथड्राल भरवाने के बाद 19 सौ रुपये का भुगतान करवाया। पीड़ित ने उच्च अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कर शेष पैसा दिलवाए जाने के मांग के साथ ही साथ बैंक मैनेजर के खिलाफ कारवाई का मांग किया है।इस संदर्भ में बैंक प्रबंधक नितिन कुमार ने घटना से इनकार किया कहा आरोप बेबुनियाद है।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x