महाराष्ट्र के नासिक में नए साल के पहले दिन रिएक्टर प्लांट में धमाके की खबर,हादसे में एक व्यक्ति की मौत 14 लोग घायल

क्राइम जर्नलिस्ट(टीम)

महाराष्ट्र के नासिक में नए साल के पहले दिन रिएक्टर प्लांट में धमाके की खबर,हादसे में एक व्यक्ति की मौत 14 लोग घायल।

महाराष्ट्र।महाराष्ट्र के नासिक में नए साल के पहले दिन रिएक्टर प्लांट में धमाके की खबर है। इस हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गई और 14 लोग घायल हैं। घायलों को नासिक के सुयश अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिनमें से 4 की हालत गंभीर है। विस्फोट इतना जोरदार था कि इसकी आवाज आसपास के गांवों में भी सुनाई दी। आग और धुआं दूर से ही देखा जा सकता था। अग्निशमन दल, पुलिस और आपदा मोचन बल के जवान मौके पर पहुंचे।

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे का इस घटना को लेकर बयान आया है। उन्होंने औरंगाबाद जिले में एक कार्यक्रम में रिपोर्टर्स से कहा कि फंसे हुए 3 लोगों में से एक को बचा लिया गया है और 2 को बचाने का प्रयास चल रहा है। देवलाली में वायु सेना स्टेशन बचाव अभियान के लिए एक हेलीकॉप्टर उपलब्ध कराएगा। उन्होंने कहा कि यह घटना इगतपुरी तालुका में नासिक-मुंबई राजमार्ग के किनारे मुंढेगांव स्थित यूनिट में सुबह करीब 11.30 बजे हुई, जब कुछ कर्मचारी परिसर में थे। मुंढेगांव नासिक से लगभग 30 किलोमीटर और मुंबई से करीब 130 किलोमीटर दूर स्थित है।

विस्फोट के समय नहीं थे बहुत अधिक लोग: CM शिंदे
सीएम शिंदे ने ने कहा, ‘जैसा कि यह एक ऑटोमेटिक प्लांट था, विस्फोट के समय बहुत अधिक लोग मौजूद नहीं थे। सरकार बचाव कार्यों के लिए जो भी प्रयास करने की आवश्यकता होगी, करेगी, कोई कमी नहीं होगी। हमारे अधिकारी, जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक मौके पर हैं। वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री डॉ. भारती पवार ने कहा कि राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ), राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और राज्य के अधिकारियों को घटना के बारे में सूचित कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री कर सकते हैं घटनास्थल का दौरा
नासिक की रहने वाली मंत्री ने कहा कि एसडीआरएफ के जवान घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। उन्होंने कहा कि विभिन्न अस्पतालों- नासिक जिला सिविल अस्पताल, एसएमबीटी अस्पताल और अन्य चिकित्सा संस्थानों (जरूरत पड़ने पर) में 100 बिस्तर तैयार रखे गए हैं। वहीं, नासिक के पालक मंत्री दादा भुसे ने कहा कि मुख्यमंत्री शिंदे स्थिति की जानकारी लेने के लिए घटनास्थल का दौरा कर सकते हैं।

‘आग लगने का सही कारण का अभी नहीं चला पता’
संभागीय राजस्व आयुक्त राधाकृष्ण गामे ने कहा, ‘आमतौर पर कंपनी में 20 से 25 लोग काम करते हैं। दरअसल यह नए साल का पहला दिन था, इसलिए रविवार को संख्या कम थी। परिसर में बड़ी घास उगी हुई है और हर जगह ज्वलनशील पदार्थ पड़ा हुआ है, ऐसे में हमारा पहला उद्देश्य आग पर काबू पाना है। आग लगने का सही कारण का अभी पता नहीं चल पाया है। इसमें कुछ समय लगेगा।’ दूसरी ओर, महाराष्ट्र में सोलापुर जिले के बरशी में पटाखा कारखाने में भीषण आग लग गई। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस घटना में तीन लोगों की मौत हो गई।
(एजेंसी इनपुट के साथ)

श्याम अग्रहरि / सेराज खान / गोविंद अग्रहरि / नितेश पाण्डेय

श्याम अग्रहरि, दुद्धी सोनभद्र, सम्पर्क : 8726305091

Related Posts

Read also x