महानिदेशक स्कूल शिक्षा व राज्य परियोजना निदेशक ने प्राथमिक विद्यालय कलकली बहरा का किया निरीक्षण

क्राइम जर्नलिस्ट(सह-सम्पादक श्याम अग्रहरि)

आलोक अग्रहरि-दुद्धी

महानिदेशक स्कूल शिक्षा व राज्य परियोजना निदेशक ने प्राथमिक विद्यालय कलकली बहरा का किया निरीक्षण।

*महानिदेशक स्कूल शिक्षा एवं राज्य परियोजना निदेशक कार्यालय लखनऊ की टीम का प्राथमिक विद्यालय कलकली बहरा प्रथम में ऑपरेशन कायाकल्प निरीक्षण व डॉक्यूमेंट्री फिल्मांकन*
दुद्धी जनपद-सोनभद्र/भौगोलिक रूप से उत्तर प्रदेश के सबसे सुदूर दक्षिणी पूर्वी सिरे पर स्थित शैक्षिक रूप से आकांक्षित जनपद सोनभद्र के भी सबसे आखरी छोर पर स्थित दुद्धी ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय कलकली बहरा प्रथम में महानिदेशक स्कूल शिक्षा एवं राज्य परियोजना निदेशक कार्यालय लखनऊ की टीम का विद्यालय में निरीक्षण हेतु आगमन हुआ।
आदिवासी बाहुल्य सामाजिक व शैक्षिक रूप से पिछड़ा क्षेत्र जो समस्याओं और चुनौतियों से भरा है, उन चुनौतियों को स्वीकार करते हुए विद्यालय कायाकल्प की सोच स्वयं में क्रांतिकारी बदलाव को दस्तख देती है।लखनऊ टीम से आए निर्देशक अरविंद पांडे, विनय श्रीवास्तव, अंशु मिश्रा, सुनील, इरफान, अनिल, सुमित सागर व डी सी बालिका शिक्षा ए के भारती ने बेसिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश शासन द्वारा प्रदत मूलभूत सुविधाओं पर डॉक्यूमेंट्री फिल्म का फिल्मांकन किया । विद्यालय में विगत वर्षों नामांकन व नामांकन के सापेक्ष ठहराव का बढ़ता ग्राफ। सेट 1, सेट2, लर्निंग आउटकम परीक्षा में बच्चों की86.3% ए प्लस ग्रेड अर्जित उपलब्धि व गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को देख सराहना की, वहीं ऑपरेशन कायाकल्प के अंतर्गत मूलभूत सुविधाओं जिसमें विद्यालय में टायलीकरण, छत का मरम्मत, बालक बालिका हेतु अलग-अलग शौचालय व मूत्रालय की व्यवस्था तथा नल से जल कार्यक्रम का कुशलता पूर्वक संचालन, पेयजल की व्यवस्था, सोलर समरसेबल, हैंड वॉश सिस्टम, बच्चों को बैठने के लिए फर्नीचर की व्यवस्था, पुस्तकालय, खेलकूद सामग्री, पौधीकरण, प्रत्येक कक्षा-कक्ष में ग्रीन बोर्ड की सुविधा, स्मार्ट क्लास संचालन, विद्यालय की उम्दा वॉल पुट्टी व रंगाई पुताई वह आकर्षक वॉल पेंटिंग से सुसज्जित व्यवस्था को देख आकांक्षित जनपद के आदिवासी जनजाति बाहुल्य क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रयोगों व नवाचारों की सराहना करते हुए प्रशंसा की तथाआगे भी यूं ही कार्य करने के लिए प्रेरित किया।
खंड शिक्षा अधिकारी आलोक यादव के नेतृत्व में बेसिक शिक्षा के नए आयामों को हौसले के साथ छूने की हुंकार भरी गई वहीं अनुभव से परिपक्व ए आर पी श्रवण कुमार व कुशल मार्गदर्शक संतोष सिंह तथा नवीन ऊर्जा व जोश से भरे मेहनती की एआर पी मनोज जायसवाल तथा मुसई राम का पूर्ण सहयोग रहा ।
विद्यालय प्रबंध समिति अध्यक्ष विनोद कुमार व उपाध्याक्ष संगीता देवी ने बदलते विद्यालय व्यवस्था में कायाकल्प को अभिभावकों तथा बच्चों के लिए प्रेरणाप्रद तथा नई ऊर्जा भरने वाले स्तंभ के रूप में देखा। विद्यालय प्रधानाध्यापिका वर्षा रानी जयसवाल, राजकुमार रुहेला, अविनाश गुप्ता, लक्ष्मीपुर सिंह, सरिता, सरिता वार्ष्णेय, अनारो, जेनेवा, जगती समेत तमाम अभिभावक उपस्थित रहें।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x