मकर संक्रांति को लेकर लोगों में उत्साह

क्राइम जर्नलिस्ट(टीम)

मकर संक्रांति को लेकर लोगों में उत्साह।

सोनभद्र । सभी जगहों पर मकर संक्रांति पर ठंड के बीच आज लोग जिले भर में पवित्र नदियों व तालाबों में आस्था की डुबकी लगाएंगे। मकर संक्रांति को लेकर लोगों में काफी उत्साह देखा जा रहा है। आज से दिन में बढ़ोत्तरी होने लगेगी। तिल की तरह तिल-तिल कर दिन बढ़ेंगे। वहीं रात का समय घटने लगेगी। मकर संक्रांति को लेकर लोगों ने बाजारों में जमकर खरीदारी की। आज शहर के प्रमुख बाजारों रेलवे क्रॉसिंग, शीतल मंदिर चौक, में मार्केट, धर्मशाला चौक समेत अन्य बाजारों में लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। बाजार में लाई, चूड़ा, बादाम से बनी पट्टी और तिलवा की बिक्री पूरे दिन जोरों पर चलती रही। बाजार में सबसे अधिक भीड़ तिलकुट, लाई, चूड़ा, तिल, किराना, गुड़, सब्जी आदि की दुकानों पर देखी गई। वहीं सब्जी बाजार में गोभी, मटर सहित अन्य सब्जियों की बिक्री चलती रही।

मकर संक्रांति देवताओं का प्रभात काल

आचार्य पं0 शिवकुमार शास्त्री ने बताया कि 13 जनवरी की मध्य रात्रि में सूर्य मकर राशि में प्रवेश करेंगे इसलिए 14 जनवरी को मकर संक्रांति मनाया जाएगा। सूर्य इस दिन धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करते हैं। सूर्य का मकर राशि में प्रवेश करना ही मकर संक्रांति कहलाता है। शास्त्रों में उत्तरायण अवधि को देवताओं का दिन एवं दक्षिणायन को रात्रि कहा गया है। मकर संक्रांति देवताओं का प्रभात काल है। इस दिन से सभी शुभ कार्यो की शुरुआत हो जाती है। इस दिन सूर्य अपनी कक्षाओं में परिवर्तन कर दक्षिणायन से उत्तरायण होकर मकर राशि में प्रवेश करते हैं। मकर संक्रांति को प्रात: स्नान को पुण्य प्राप्ति एवं स्वास्थ्य की दृष्टि से लाभप्रद माना गया है। सूर्य उतरायण होने से सूर्य में उष्णता बढ़ती है, जिससे रोगों से लोगों को निजात मिलने लगता है।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x