किसानों-सरकार में फिर बातचीत आज, 6 व 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च की चेतावनी

क्राइम जर्नलिस्ट(सम्पादक-सेराज खान)

किसानों-सरकार में फिर बातचीत आज, 6 व 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च की चेतावनी

किसानों-सरकार में फिर बातचीत आज, 6 व 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च की चेतावनी

प्रदेश ब्यूरो दिल्ली-अतूफा इसहाक

नई दिल्ली/दिल्ली में इस वक्त कड़ाके की ठंड के बीच पिछले सवा महीने से कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है। बारिश और ठंड के बीच दिल्ली की सीमाओं पर डटे किसाननों की आज आज एक बार फिर से सरकार के साथ बैठक है। सरकार और किसानों के बीच आज सातवें दौर की बातचीत होगी और उम्मीद की जा रही है कि इस बैठक से कुछ सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। आज यानी सोमवार की बैठक में सरकार के सामने किसानों की दो मांगें होंगी- कानून वापसी और एमएसपी। बता दें कि पिछली बातचीत में सरकार ने किसानों की दो बातें मान ली थी- बिजली संशोधन विधेयक 2020 और पराली जलाना जुर्म नहीं। तो चलिए जानते हैं किसान आंदोलन और सरकार के साथ बातचीत से पहले के सभी लेटेस्ट अपडेट्स…

बातचीत में कौन होंगे शामिल

केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और पीयूष गोयल सरकार का नेतृत्व करेंगे, जबकि किसान यूनियन के 40 नेता वार्ता में किसानों का प्रतिनिधित्व करेंगे। इससे पहले 30 दिसंबर को किसानों और केंद्र के बीच छठे दौर की वार्ता हुई थी जहां कुछ चीजों लेकर उनकी रजामंदी हुई थी।

सरकार को किसानों की चेतावनी

किसानों और सरकार के बीच में अब तक 6 दौर की बातचीत हो चुकी है। आज की बात हल निकालने की कड़ी में अहम साबित हो सकती है। किसानों की दो मुख्य मांगें- तीन नए कृषि कानूनों को खत्म करना और न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) को कानूनी बनाने की मांग जैसे की तैसी बनी हुई हैं। किसान इन मांगों पर डटे हुए हैं। किसान संगठनों ने चेतावनी दी है कि अगर उनकी मांगे पूरी नहीं हुई तो वो 26 जनवरी को मनाने के लिए हजारों किसान अपने ट्रैक्ट्ररों के साथ परेड के लिए राजधानी में आगे बढ़ेंगे।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x