6 सूत्रीय मांगों के समर्थन में आशा व संगिनियों ने किया प्रदर्शन

क्राइम जर्नलिस्ट(टीम)

6 सूत्रीय मांगों के समर्थन में आशा व संगिनियों ने किया प्रदर्शन

सोनभद्र । ऑल इंडिया बहू कार्यकर्ती कल्याण सेवा समिति के बैनर तले जिले भर की आशा व संगिनियों ने जिलाध्यक्ष मंजुलता मौर्या के नेतृत्व में 6 सूत्रीय माँगों के समर्थन में कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया और ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन के माध्यम से आशाओं व संगिनियों ने कहा कि राज्यकर्मचारी का दर्जा प्रदान करने, न्यूनतम वेतनमान, ईपीएफ, इसीआई का लाभ दिलाने, आयुष्मान कार्ड की सुविधा प्रदान करने, नि:शुल्क बीमा किए जाने, कोविड-19 या अन्य कारणों से सेवाकाल में मृत्यु होने पर 50 लाख की आर्थिक सहायता परिजनों को दिलाए जाने और योग्यता के अनुसार आशा बहू को एएनएम का प्रशिक्षण देकर पद पर प्रोन्नति करने की मांग की गई है।

इस दौरान जिलाध्यक्ष मंजुलता मौर्या ने बताया कि आशा संगिनी के नियमित मानदेय और कोविड-19 में मोबाइल से कार्य करने वाली आशा, आशा संगिनी को सरकार की ओर से कोई प्रोत्साहन राशि नहीं दिया गया। बल्कि सरकार ने उनका अपमान ही किया। वर्ष 2017 में चुनाव के दौरान आशा और आशा संगिनी को नियमित मानदेय-वेतन देने का वादा किया गया था। पांच वर्ष बीतने को है लेकिन अभी तक इस पर कोई निर्णय नहीं लिया गया है। शिशु मृत्यु दर में कमी और शत-प्रतिशत टीकाकरण के आंकड़े हमारे बेहतर कार्यों के प्रमाण हैं। स्वास्थ्य विभाग की रीढ़ होने के बाद भी हमारे हितों की उपेक्षा की जा रही है।”

वहीं इंदु शर्मा और रेखा ने सरकार को चेताते हुए कहा कि “आशाओं को कमतर आंकने की गलती ना करें, वह अपने सम्मान की लड़ाई आखिरी दम तक लड़ेंगी। आशाओं ने कहा कि कोरोना काल के दौरान वह फ्रंटलाइन योद्धा बनकर काम की और अब उन्हें ही भुला दिया गया। उन्होंने कहा कि यदि हमारी मांगे पूरी नहीं की गई तो वह 26 अक्टूबर को लखनऊ में धरना प्रदर्शन कर सरकार को जगाने का प्रयास करेंगी।”

इस मौके पर अर्चना पांडेय, जानकी देवी, माया देवी, रेखा, तारा देवी, सुनैना, सुनीता, संगीता देवी, बिंदू देवी, निर्मला देवी, मंजू देवी, चंदा देवी, राधिका देवी, गीता देवी, शांति देवी, रेखा देवी, किरण सोनी, सविता मिश्रा, राखी उपाध्याय, आरती, सरिता, कविता, प्रतिमा श्रीवास्तव, ललिता कुमारी, गीता देवी, रेहाना बेगम, विनोदिनी महतो, देवंती देवी, श्यामा देवी समेत सैकड़ों की संख्या में आशा व संगिनी मौजूद रही।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x