महर्षि बाल्मीकि जी के चित्र पर माल्यार्पण, दीप प्रज्ज्वलन व बाल्मीकि रामायण पाठ आदि का किया गया आयोजन

*Crime Journalist (सह-सम्पादक श्याम अग्रहरि)

ब्यूरो चीफ सुल्तानपुर – आकृति अग्रहरि*

*महर्षि बाल्मीकि जी के चित्र पर माल्यार्पण, दीप प्रज्ज्वलन व बाल्मीकि रामायण पाठ आदि का किया गया आयोजन।*

*सुल्तानपुर –मुख्य सचिव उ0प्र0 शासन के दिये गये निर्देशों के क्रम में जिलाधिकारी रवीश गुप्ता की अध्यक्षता में जिला मुख्यालय पर शनिवार को महर्षि सुपत सुदर्शन पार्क में महर्षि बाल्मीकि जी की जयन्ती के रूप में पूरे उत्साह, उमंग एवं कोविड-19 के दिशा निर्देशों के अन्तर्गत मनायी गयी। महर्षि बाल्मीकि जी के चित्र पर मुख्य अतिथि मा0 विधायक सुलतानपुर सूर्यभान सिंह, विशिष्ट अतिथि अध्यक्ष नगर पालिका परिषद सुलतानपुर बबिता जायसवाल व जिलाधिकारी श्री गुप्ता, मुख्य विकास अधिकारी अतुल वत्स आदि के द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर महर्षि बाल्मीकि जी के चित्र पर माल्यार्पण कर के कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि मा0 विधायक सुलतानपुर सूर्यभान सिंह ने अपने सम्बोधन में कहा कि महर्षि बाल्मीकि जी की जयन्ती 31 अक्टूबर को वर्तमान प्रदेश सरकार पूरे प्रदेश में हर्षोल्लास के साथ मना रही है। उन्होंने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार की सभ्यता और संस्कृति में है कि यह अपने महापुरूषों की जयन्ती मनाया करती है और कोई भी सरकार ऐसा नहीं करती रही। महापुरूषों की जयन्ती मनाकर हम लोग एक संदेश देते हैं कि यह सरकार महापुरूषों की सम्मान करने वाली सरकार है।
विशिष्ट अतिथि अध्यक्ष नगर पालिका परिषद सुलतानपुर बबिता जायसवाल ने महर्षि बाल्मीकि जयन्ती के शुभ अवसर पर सब को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हमारे प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री जी की देन है कि महर्षि बाल्मीकि जी की जयन्ती को आज प्रदेश के समस्त प्रशासनिक अधिकारी अपने-अपने कार्यालयों में पूर्ण मनोयोग एवं हर्षोल्लास के साथ मना रहे है। यह प्रदेश सरकार की देन है।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे जिलाधिकारी श्री गुप्ता ने अपने सम्बोधन में कहा कि महर्षि बाल्मीकि जी अपने बचपन में धार्मिक कार्यों से बहु दूर रहे, परन्तु उन्हें जब ज्ञान प्राप्त हुआ तब प्रभु राम की सरण में चले गये और प्रभु भक्ति में लीन हो गये।
उन्होंने कहा कि प्रभु में भक्ति और आत्म शक्ति से कुछ भी हासिल किया जा सकता है। महर्षि बाल्मीकि जी के जयन्ती के अवसर पर हम उनके जीवन दर्शन का आत्मसात करते हुए आगे बढ़ने की प्रेरणा लेते हैं।
उन्होंने कहा कि इस अवसर पर आज यह कार्यक्रम सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग द्वारा पंजीकृत सांस्कृतिक दल ‘‘पूर्वांचल लोकगीत कला केन्द्र सुलतानपुर‘‘ के कलाकारों द्वारा महर्षि बाल्मीकि रामायण पाठ एवं गीत प्रस्तुत किया गया। महर्षि बाल्मीकि जयन्ती जनपद के सभी विकास खण्डों व तहसीलों के अन्तर्गत महर्षि बाल्मीकि से सम्बन्धित स्थलों/मन्दिरों आदि पर भी पूरे उत्साह, उमंग के साथ मनाते हुए विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। जिला मुख्यालय पर आयोजित कार्यक्रम का संचालन जिला विकास अधिकारी डॉ0 डी0आर0 विश्वकर्मा ने किया।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अतुल वत्स, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 सीबीएन त्रिपाठी, वरिष्ठ कोषाधिकारी वरूण खरे, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी पन्ना लाल, डीसी मनरेगा विनय कुमार, डीसी एनआरएलएम जितेन्द्र मिश्रा, जिला समाज कल्याण अधिकारी आर0 बी0 सिंह, जिला दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी चन्द्रेश त्रिपाठी सहित जन सामान्य व बाल्मीकि समाज के लोग उपस्थित रहे।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x