सिंदूरिया एक्सीडेंट के बाद बिखर गए कई परिवार मगर फर्क नहीं पड़ा लोगों को

क्राइम जर्नलिस्ट(सम्पादक-सेराज खान)


सिंदूरिया एक्सीडेंट के बाद बिखर गए कई परिवार मगर फर्क नहीं पड़ा हुक्मरानों को।

चोपन (सोनभद्र)दिन रविवार को सिंदूरिया मार्ग पर हाइवा ट्रक की टक्कर में बाइक सवार दो महिलाओं की मौत व नवजात शिशु समेत बाइक सवार युवक के घायल होने के बाद सोमवार को जिंदगी एक बार चल पड़ी है। रविवार को घटना के बाद बीजेपी नेताओं समेत लोगों का गुस्सा सातवें आसमान था लेकिन सोमवार गुस्सा का असर कुछ भी नजर नहीं आया । सड़कों पर एक बार फिर चहल-पहल देखने को मिली। हां यह जरूर है कि घटना के बाद यह जानकारी जरूर सार्वजनिक हो गयी कि मंत्री के आदेश को भी अधिकारी नहीं मान रहे जबकि बैरियर से सिंदूरिया मार्ग पर बन रहे सीसी रोड को जल्द बनाने के लिए कई बार मंत्री संजीव गोंड़ कह चुके हैं लेकिन उनका आदेश बेअसर रहा। जिस तरह से रविवार को बीजेपी नेताओं समेत स्थानीय लोगों का गुस्सा फूटा था तो लग रहा था कि सोमवार को विभागीय अधिकारी जरूर आएंगे जिसके बाद काम में तेजी भी आएगी । लेकिन सोमवार को पूरा दिन गुजर गया कोई सुधि लेने तक नहीं आया । किसी का घर बिखर गया लेकिन किसी को कोई फर्क तक नहीं पड़ा ।

लोगों ने बताया कि सड़क खराब होने की वजह से लग रहे प्रतिदिन जाम की स्थिति में अक्सर एंबुलेंस को भी मरीज के साथ ही घंटो जाम में फंसे रहना पड़ता है जिससे मरीजों का भी बुरा हाल हो जाता है । यही नहीं इसी मार्ग पर सरकारी बैंक तथा बच्चों के विद्यालय भी है जिसमें पढ़ने जाने वाले बच्चे भी अक्सर कीचड़ में गिर जाते हैं और उनके कपड़े गंदे होते रहते हैं । लोगों ने बताया कि ठेकेदार का हाल यह है कि चार दिन काम करने के बाद सीमेंट ना होने और विभाग द्वारा पेमेंट न किए जाने का बहाना करके काम को रोक देता है । इस संबंध में कई बार जिला प्रशासन से शिकायत की गई लेकिन सड़क को जल्दी बनाने के दिशा में कोई कदम नहीं उठाया जा सका । लोगों ने बताया कि इस मार्ग पर बालू लोड ट्रैकों के अलावा टेंपो, टीपर, बस इत्यादि गुजरते हैं और हमेशा दुर्घटना की आशंका बनी रहती है।

श्याम अग्रहरि / सेराज खान / गोविंद अग्रहरि / नितेश पाण्डेय

श्याम अग्रहरि, दुद्धी सोनभद्र, सम्पर्क : 8726305091

Related Posts

Read also x