राजस्थान बोर्ड ने 10वीं 12वीं कक्षाओं का रिजल्ट फॉर्मूला जारी किया

क्राइम जर्नलिस्ट(टीम)

राजस्थान बोर्ड ने 10वीं 12वीं कक्षाओं का रिजल्ट फॉर्मूला जारी किया।

राजस्थान। राजस्थान बोर्ड ने 10वीं 12वीं कक्षाओं का रिजल्ट फॉर्मूला जारी कर दिया है। फॉर्मूला तय करने के लिए बनाई गई कमेटी की रिपोर्ट को बुधवार को शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने हरी झंडी दे दी। फॉर्मूले के अनुसार पिछले दो सालों की परीक्षाओं के परिणाम को रिजल्ट का आधार बनाया जाएगा। 10वीं का रिजल्ट 8वीं, 9वीं और 10वीं कक्षाओं में प्रदर्शन के आधार पर तैयार किया जाएगा जबकि 12वीं का रिजल्ट 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षाओं में प्रदर्शन के आधार पर जारी किया जाएगा। परीक्षा परिणाम से असंतुष्ट विधार्थियों को फिर से एग्जाम देने का मौका मिलेगा। जब बोर्ड द्वारा परीक्षा का आयोजन किया जाएगा, वह तब परीक्षा दे सकेंगे। इसके लिए वैकल्पिक परीक्षा के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कराया जाएगा तथा वैकल्पिक परीक्षा के ही अंकों को अंतिम परिणाम के रूप में माना जाएगा। इसके मुताबिक रिजल्ट 45 दिन में जारी कर दिया जाएगा।

फैसले की जानकारी शिक्षा मंत्री डोटासरा ने ट्वीट करके दी। उन्होंने कहा, ‘शिक्षा विभाग ने सभी पहलुओं पर विस्तारपूर्वक चर्चा करके 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम का फ़ॉर्मूला तय कर लिया है, जिसका प्रेस नोट भी जारी कर दिया गया है।’

समझें 10वीं का रिजल्ट फॉर्मूला
कक्षा 10वीं के मार्क्स का निर्धारण 8वीं बोर्ड परीक्षा के अंक, 9वीं कक्षा के अंक और 10वीं कक्षा (इंटर असेसमेंट) में प्रदर्शन के आधार पर होगा। 8वीं बोर्ड परीक्षा के अंकों को 45 प्रतिशत, 9वीं कक्षा के अंकों को 25 प्रतिशत और 10वीं कक्षा के प्रदर्शन को 10 प्रतिशत वेटेज दिया जाएगा। कक्षा 10वीं में वेटेज का निर्धारण विद्यालय विषय समिति द्वारा किया जाएगा। यह समिति वर्तमान सत्र में स्माइल, स्माइल-2, आओ घर में सीखें, कक्षा तथा कक्षा शिक्षण में विद्यार्थी की भागीदारी व प्रदर्शन के आधार पर उसे अंक देगी। सत्रांक का अंकभार पहले के सालों की तरह 20 प्रतिशत रहेगा।

समझें 12वीं का रिजल्ट फॉर्मूला
12वीं कक्षा के परिणाम 10वीं कक्षा के मार्क्स, 11वीं कक्षा के मार्क्स और 12वीं कक्षा में प्रदर्शन के आधार पर होगा। 10वीं कक्षा के मार्क्स का वेटेज 40 फीसदी, 11वीं का 20 फीसदी और 12वीं का भी 20 फीसदी रहेगा। 12वीं कक्षा के मार्क्स विद्यालय विषय समिति तय करेगी। सत्रांक का वेटेज पहले की तरह 20 फीसदी रहेगा।

कक्षा 12 की प्रायोगिक परीक्षाओं के सम्बंध में समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि अधिकतर विद्यालयों में प्रायोगिक परीक्षाओं का आयोजन हो चुका है तथा 40 प्रतिशत विद्यालयों में परीक्षा उपरान्त माक्र्स भी दिए जा चुके है। अब शेष रहे विद्यालयों में कक्षा 12वीं की प्रायोगिक परीक्षाएं गृह तथा चिकित्सा विभाग द्वारा आवश्यक अनुमति मिलने पर ऑनलाइन या ऑफलाइन आयोजित की जाएगी।

स्वयंपाठी विद्यार्थियों को देनी होगी परीक्षा
प्राइवेट विधार्थी या ऎसे विद्यार्थी जिन्होंने श्रेणी सुधार हेतु आवेदन किया है उन्हे बोर्ड द्वारा जब भी परीक्षा का आयोजन होगा तब अवसर दिया जाएगा। समिति की ओर से तय अंक योजना में पूरक आए विद्यार्थियों को पूरक परीक्षा (कंपार्टमेंट एग्जाम) का आयोजन होने पर परीक्षा देनी होगी।

यह रहा फॉर्मूला

rbse 10th 12th exam 2021

rajasthan board evaluation criteria

10वीं-12वीं के रिजल्ट का फॉर्मूला तय करने के लिए राजस्थान शिक्षा विभाग ने 12 सदस्यीय कमेटी बनाई थी जिसने मंगलवार को अपनी रिपोर्ट राज्य सरकार को सौंप दी थी।

आपको बता दें कि इस बार 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं के लिए 21.58 लाख से ज्यादा विद्यार्थी पंजीकृत है। इसमें 10वीं में करीब 12 लाख व 12वीं में करीब साढे़ 9 लाख स्टूडेंट हैं।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x