बिजली आपूर्ति न होने से लोगो को याद आ रही किरोसिन आयल, केन्द्र सरकार व प्रदेश सरकार संज्ञान ले

क्राइम जर्नलिस्ट(सम्पादक-सेराज खान)

बिजली आपूर्ति न होने से लोगो को याद आ रही किरोसिन आयल, केन्द्र सरकार व प्रदेश सरकार संज्ञान ले।

(दुद्धी)सोनभद्र-(आलोक अग्रहरि) जनपद में हो रही लगातर बारिश से कई क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति बाधित है जिससे क्षेत्र अंधकारमय है ।केन्द्र सरकार और प्रदेश सरकार द्वारा सोनभद्र जनपद में मिट्टी की तेल ((किरोसिन आयल) की आपूर्ति बंद कर दी गई है जिससे जनपदवासियों में आक्रोश व्याप्त है । बिजली आपूर्ति की स्थिति जिले में बद से बदतर है । दुद्धी तहसील में पैदा होने वाले बिजली से देश के कई हिस्से रोशन होते है लेकिन अपने क्षेत्र को ही अंधकारमय कर रहे हैं ।बिजली विभाग के अधिकारी और कर्मचारी निष्क्रिय हो चुके है । बिजली कब आएगी ,कब जाएगी पता नहीं है। बिजली रोस्टिंग का भी कोई समय नही है । नगर में 20 घण्टे और गांवों में 18 घंटे तक मिलने वाली बिजली की स्थिति में कोई सुधार नहीं हो रहा है ।जनता को उम्मीद थी कि भाजपा सरकार में सब कुछ ठीक रहेगा लेकिन बिजली विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की उदासीनता के कारण सरकार की किरकिरी हो रही हैं। लाइट न आने से लोगो को मिट्टी के तेल (किरोसिन आयल)की याद आ रही है ।केन्द्र सरकार और प्रदेश सरकार ने मिट्टी के तेल को बन्द कर दिया है , अब रोशनी कहाँ से लाए , ? घरो की महिलाएं और बच्चे तो ज्यादा प्रभावित होते है और कष्ट वही ज्यादा झेलते है उनकी समस्या को कौन सुने? भाजपा नेता डीसीएफ चेयरमैन सुरेन्द्र अग्रहरि ने कहा कि सरकार की छवि खराब करने वाले बिजली विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों ने तो हद पार कर दिया है । कभी 33 हजार फाल्ट तो कभी 11 हजार फाल्ट ,ये क्या है और कब तक चलेगा? क्या जनता इसी तरह सहती रहेगी और कब तक? बिजली विभाग के अधिकारियों ने सरकार की किरकिरी कराने का बीड़ा उठा लिया है । यदि बिजली नही मिलेगा तो लोगो को रोशनी कहाँ से मिलेगा और उसका विकल्प क्या है? सरकार बिजली विभाग के ऊपर कार्यवाही करें और लोगो को विकल्प भी उपलब्ध कराए ? अन्यथा जनता सड़क पर उतर जाएगी चाहे सरकार हमारी हो या किसी और की। बिजली विभाग में कई ऐसे कर्मचारी है जो अपनी ड्यूटी पर नहीं है लेकिन उनका भुगतान हो रहा है ।इस प्रकार भ्रष्टाचार बिजली विभाग में है । जो क्षेत्र औद्योगिक क्षेत्र है वहाँ 24 घण्टे बिजली और जहाँ गाँव है वहाँ बिजली नही ,ऐसा क्यों? सरकार इस पर विचार करे और बिजली विभाग पर कार्यवाही करें। गोरखनाथ अग्रहरि, संजू तिवारी , पंकज गोस्वामी, सुमित सोनी, नीरज अग्रहरि , मोहित अग्रहरि, आनन्द चौरसिया ने सरकार से माँग किया है कि जहाँ बिजली नही मिल पा रही हैं वहाँ लोगो को मिट्टी का तेल उपलब्ध कराया जाए।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x