कैबिनेट की बैठक में खरीफ फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) बढ़ाने का फैसला हुआ सरकार ने विभिन्न खरीफ फसलों एमएसपी में 50 से 62 प्रतिशत की बढ़ोतरी की

क्राइम जर्नलिस्ट(टीम)

कैबिनेट की बैठक में खरीफ फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) बढ़ाने का फैसला हुआ है। सरकार ने विभिन्न खरीफ फसलों एमएसपी में 50 से 62 प्रतिशत की बढ़ोतरी की।

नई दिल्ली।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में खरीफ फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) बढ़ाने का फैसला हुआ है। सरकार ने विभिन्न खरीफ फसलों एमएसपी में 50 से 62 प्रतिशत की बढ़ोतरी की है। केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में और भी कई फैसले लिए गए, जिसकी जानकारी केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दी है।

कैबिनेट के फैसले के मुताबिक, सीजन 2021-22 के लिए खरीफ फसलों के लिए एमएसपी को मंजूरी दी गई है। पिछले वर्ष की तुलना में एमएसपी में उच्चतम पूर्ण वृद्धि की सिफारिश तिल के लिए 452 रुपये प्रति क्विंटल की गई है। इसके अलावा बाद अरहर और उड़द के लिए 300 रुपये प्रति क्विंटल की सिफारिश की गई है।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कैबिनेट के फैसलों की जानकारी देते हुए कहा, ‘रेलवे को 700 मेगाहर्ट्ज बैंड में 5 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम मुहैया कराया जाएगा। इससे रेलवे अपनी संचार प्रणाली में सुधार करेगा और रेल यात्रा को सुरक्षित बनाएगा। रेलवे वर्तमान में ऑप्टिकल फाइबर का उपयोग करता है। स्पेक्ट्रम की उपलब्धता से रेडियो संचार होगा।’ साथ ही उन्होंने कहा कि रेलवे में सिग्नल आधुनिकीकरण और 5जी स्पेक्ट्रम क्रियान्वयन पर अगले 5 साल में 25,000 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने रामागुंडम फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स लिमिटेड में संशोधन के साथ नई निवेश नीति (एनआईपी)-2012 के विस्तार को मंजूरी दी है।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x