CRIME JOURNALIST

हर खबर में सच्चाई

पुलिस ने किया विजय नगर में हुई सनसनीखेज चोरी का खुलासा, चोरों को भेजा जेल, माल खरीददार सराफा दुकानदारों को दिया अभयदान

क्राइम जर्नलिस्ट(सम्पादक-सेराज खान)

पुलिस ने किया विजय नगर में हुई सनसनीखेज चोरी का खुलासा, चोरों को भेजा जेल, माल खरीददार सराफा दुकानदारों को दिया अभयदान

खागा/फ़तेहपुर।(ब्यूरो)कोतवाली पुलिस ने बीते तीन दिन पूर्व बुधवार को नगर क्षेत्र के विजय नगर मुहल्ले में अंजाम दी गई सनसनीखेज चोरी की वारदात का सनसनीखेज खुलासा करते हुए माल सहित वारदात को अंजाम देने वाले तीन अभियुक्तो को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। हलांकि भुक्तभोगी वादी ने पुलिस पर चोरों को जेल भेज चोरी गये सोने चांदी के जेवरातों की खरीद करने वाले नगर के सर्राफा गली मुहल्ले निवासी दो सर्राफा ब्यवसाइयों को अभयदान देने का आरोप भी लगाया है। जिसने दाल में कुछ काला होने की आशंका भी जाहिर की है।
कोतवाली व नगर क्षेत्र के विजय नगर नई बस्ती कैनाल रोड मुहल्ले निवासी राजबहादुर उर्फ ननकू सिंह बीती 15 नवम्बर को स्वजनों समेत घर मे ताला डालकर अपने विजय नगर स्टेशन रोड निवासी रिश्तेदार के घर गये थे। तभी सूनेपन का फायदा उठा कर घर के मेन गेट में लगे ताले को तोड़कर दाखिल हुए अज्ञात चोरों ने दिनदहाड़े घर के कमरे में रखी आलमारी में रखे कीमती जेवरात कीमत तकरीबन 15 लाख समेत नगदी व उपकरण पार कर दिये थे।
देर शाम घर लौटने पर भुक्तभोगी घर के बाहरी दरवाजे में लगे ताले को टूट हुआ व जेवरात नगदी व उपकरणों को गायब देखकर सन्न रह गया। जिसने घटना की लिखित सूचना पुलिस को दी। पुलिस अज्ञात चोरों के खिलाफ मामला दर्ज कर मामले की जांच व सुरागरशी में जुटी थी। इसी दौरान मुख़बिर ने पुलिस को सूचना दी कि कुछ संदिग्ध लोग बड़े भीट बाबा के नजदीक रेलवे लाइन के पास मौजूद हैं। पुलिस तुरन्त मुख़बिर द्वारा बताए गए स्थान के लिए रवाना हो गई। जहां पुलिस को तीन संदिग्ध लोग दिखाई पड़े। जो कि पुलिस को देखकर भागने का प्रयास करने लगे। जिनको पुलिस ने दौड़ाकर गिरफ्तार कर लिया।
गिरफ्तार अभियुक्तो ने पुलिसिया पूंछतांछ के दौरान अपने नाम पवन उर्फ आशीष सोनकर पुत्र मंगल निवासी ग्राम गढ़ा कोट थाना किशनपुर हाल पता उज्ज्वल सिंह के सामने जीटी रोड, राकेश पुत्र नन्द किशोर निवासी बैरागी का पुरवा, अजय पुत्र रामसिंह निवासी गढ़वा किशनपुर हाल पता बैरागी का पुरवा थाना कोतवाली स्वीकरा है।
अभियुक्तो के पास से पुलिस टीम ने कुछ सोने व चांदी के आभूषण भी बरामद किया है। जिसको अभियुक्तो ने बीती 15 नवम्बर को विजय नगर कैनाल पटरी नई बस्ती में अंजाम दी गई चोरी के दौरान चोरी किया जाना स्वीकर किया है।
पुलिस ने गिरफ्तार किए गए अभियुक्तो के खिलाफ सुसंगत धाराओं में मामला दर्ज कर जेल भेज दिया।
घटना के खुलासे में उपनिरीक्षक रीतेश कुमार राय चौकी प्रभारी कस्बा खागा व उनके हमराहियों ने सराहनीय भूमिका निभाई।
हलांकि पुलिस भले ही घटना का महज चौबीस घण्टे बाद खुलासा करने के बाद अपने मुँह मियाँ मिट्ठू बनते फिर रही हो।
लेकिन भुक्तभोगी वादी द्वारा मीडिया को दिए गए एक बयान से पुलिस की जमकर किरकिरी भी हुई है।
भुक्तभोगी ने मीडिया को दिये गए बयान में पुलिस पर चोरी गये सोने चांदी के जेवरातों की खरीद फरोख्त करने वाले नगर के सराफा बाजार मुहल्ले निवासी दो सर्राफा ब्यवसाइयों को अभय दान देने का आरोप लगाया है। बकौल भुक्तभोगी आरोपित दोनों सराफा ब्यवसाइयों का गिरफ्तार व जेल भेजे गए चोरों ने नाम भी स्वीकरा था। चोरों द्वारा बताए गये दोनों सराफा ब्यवसाइयों समेत
पुलिस ने पूंछतांछ के लिए लगभग एक दर्जन सराफा कारोबारियों को हिरासत में भी लिया। लेकिन कुछ घण्टो की बन्द कमरे में मुलाकात एक सत्तापक्षीय क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि व कुछ स्थानीय भाजपा नेताओं के हस्तक्षेप के बाद अभयदान देकर छोड़ दिया।
जो कि नगर समेत पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।
हलांकि इस सम्बंध में जब कोतवाली प्रभारी तेज प्रताप सिंह से बात की गई तो उन्होंने ऐसी किसी बात से ही नहीं बल्कि किसी सराफा ब्यवसाई के नाम का चोरों द्वारा जिक्र करने की बात से ही साफ इंकार किया है।

श्याम अग्रहरि / सेराज खान / गोविंद अग्रहरि / नितेश पाण्डेय

श्याम अग्रहरि, दुद्धी सोनभद्र, सम्पर्क : 8726305091

Related Posts

Read also x