कोविड कर्फ्यू:जहां लगाई पाबंदी वहां भी नहीं थमा कोरोना,देहरादून समेत चार जिलों में पाजिटिव केस बढ़े

क्राइम जर्नलिस्ट(टीम)

कोविड कर्फ्यू:जहां लगाई पाबंदी वहां भी नहीं थमा कोरोना,देहरादून समेत चार जिलों में पाजिटिव केस बढ़े

हरिद्वार(उत्तराखण्ड)कोरोना संक्रमण की रोकथाम में कर्फ्यू का भी ज्यादा प्रभावी असर नहीं दिख रहा है। राज्य के जिन जिलों में कर्फ्यू लगाया गया है, वहां पाजिटिस केस की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। एक मई से आज छह मई तक के आंकड़े इसकी गवाही दे रहे हैं कि अब कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए ज्यादा सख्त कदम उठाने की जरूरत है। एक मई को देहरादून में 2266 पॉजिटिव केस सामने आए थे, जोकि छठवें दिन बढ़कर 3123 तक पहुंच गए हैं। यूएसनगर में छह दिन में संक्रमित केस का ग्राफ एकदम दोगुना हुआ है। चिंता की बात है कि उत्तराखंड में गुरुवार को रिकार्ड 151 कोविड मरीजों की मौत हो गई।

एक दिन के भीतर सबसे ज्यादा 8517 नए मरीज भी मिले हैं। दून में तीन हजार, हरिद्वार और यूएसनगर में एक हजार से अधिक संक्रमित हुए हैं। राज्य के एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या 62911 पहुंच गई है। हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक राज्य में गुरुवार 4548 कोरोना मरीज स्वस्थ हुए हैं। संक्रमण की रफ्तार भी तेज हुई है। राज्य का एक भी जिला ऐसा नहीं रहा, जहां गुरुवार को संक्रमितों की संख्या 100 से कम रही हो। देहरादून, हरिद्वार और यूएसनगर के बाद सबसे ज्यादा 847 संक्रमित नैनीताल जिले में मिले हैं।

कर्फ्यू का असर नहीं:
तारीख देहरादून हरिद्वार नैनीताल यूएसगनर
1.5.2021 2266 578 810 503
2.5.2021 2580 628 436 567
3.5.2021 2066 676 458 656
4.5.2021 2789 657 819 833
5.5.2021 2771 599 956 1043
6.5.2021 3123 1045 847 1130

कर्फ्यू का उद्देश्य संक्रमण काे रोकने की थी। पर जिस प्रकार का ट्रेंड सामने आ रहा। ट्रेंड सामने आ रहा है, उसे साबित हो गया है कि कर्फ्यू की रणनीति फेल हो गई है। सरकार को आगे की रणनीति तत्काल तय करे। सरकार को सख्त कदम उठाने चाहिए और जनता को भी तैयार रहना चाहिए।
अनूप नौटियाल, स्वास्थ्य विशेषज्ञ

सरकार सभी स्थितियों पर नजर रखे हुए। स्वास्थ्य सुविधाओं को तेजी से बढ़ाया जा रहा है। कोरोना वायरस की चेन को तोड़ने के लिए जनसहयोग भी बेहद जरूरी है। लोगों को चाहिए कि अनावश्यक घरों से न निकले। मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और सेनेटाइजेशन का अनिवार्य रूप से पालन करें।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x