गंगा नदी में मिल रहे शवाें पर जानिए क्या बोले सीएम योगी, अधिकारियों को दिए यह आदेश

क्राइम जर्नलिस्ट(टीम)
know what cm yogi said on the dead bodies found in the ganga river nadi order given to the ias offic

उत्तर प्रदेश/यूपी और बिहार में गंगा नदी में शवों का मिलना जारी है। गुरुवार को वाराणसी के पास चंदौली जिले में कई शव गंगा नदी में मिले हैं। यूपी की सीमा से सटे बिहार के बक्सर जिले के चौसा में गंगा से अबतक 83 शव निकाले जा चुके हैं। वहीं यूपी की सीमा पर महाजाल लगा दिया गया है। प्रशासनिक सूत्रों के मुताबिक 8 से 10 लाशों को महाजाल के जरिए निकाला गया है।

इस बीच अलीगढ़ में कोरोना की स्थिति की समीक्षा करने पहुंचे यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि किसी भी शव को नदी में न डाला जाए। बल्कि धर्म के अनुसार उसका अंतिम संस्कार किया जाए। नदियों को प्रदूषण मुक्त रखने के लिये जानवरों तक के शव को नदियों में प्रवाहित करने में मनाही है। उन्होंने कहा कि एएमयू कोरोना संक्रमितों के इलाज में बेहतर काम कर रहा है, सरकार की ओर से पूरी मदद की जाएगी।

चंदौली में मिले कई शव :

गुरुवार की सुबह चंदौली के धानापुर थाना क्षेत्र के बड़ौरा घाट पर लोगों ने एक-एक कर कई शव देखे। इसकी सूचना जंगल में आग की तरह गांवों में फैली तो नदी किनारे लोगों की भीड़ लग गई। पुलिस और प्रशासन को भी इसकी जानकारी दी गई। आशंका जताई जा रही है अंतिम संस्कार का खर्च नहीं उठा पाने वालों ने शवों को गंगा में प्रवाहित कर दिया है। चंदौली के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रेम प्रकाश मीणा के नेतृत्व में अफसरों की टीम गंगा घाट पर पहुंची है। बक्सर जिले के सभी पुलिस थानों को यह आदेश दे दिया गया है कि शवों की बरामदगी मामले में सभी कानूनी प्रक्रिया अपनाई जाए। गंगा से अज्ञात शव बरामद किए जाने के बाद भी उसका पोस्टमार्टम कराना होगा। वहीं मोटर वोट से पेट्र्रोंलग करनी है। वहीं जिला प्रशासन का भी पूरा प्रशासनिक अमला अलर्ट है।

पटना में शव खा रहे कुत्ते :

गंगा में बहकर आ रहे शवों को जानवर नोचकर खा रहे हैं। बताया जा रहा है कि आज ही दो शव बह कर आए। एक शव नदी के किनारे था। वहीं दूसरा शव कुछ दूरी पर था। ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कुछ लोग जिनकी मृत्यु होम आइसोलेशन में हुई है वे अपने शवों को दीघा की ओर से पानी में बहा दे रहे हैं।गंगा की पानी में करंट (धार) नहीं होने की वजह से शव किनारे आके लग जा रहे हैं। कई शव तो ऐसे दिख रहे हैं जिसमे पीपीई किट के साथ बहा दिए गए हैं। इन शवों को देखकर गुलबी घाट या अन्य दूसरों घाट से इवनिंग वॉक करने आने वाले लोग देख रहे हैं। वीडियो बना रहे हैं। इसकी सूचना प्रशासन को दी गई है। हालांकि कुछ नहीं हो रहा है। वहीं गंगा में शव फेकने से लोगों में नाराजगी भी जाहिर कर रहे हैं।

गंगा के घाटों पर पुलिस का पहरा
इसके तहत चौसा व चरित्रवन स्थित श्मशान घाटों पर दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारी को तैनात कर पहरा बिठाया गया है। वहीं मोटर बोट से गश्ती के माध्यम से भी नजर रखी जा रही है। यही नहीं शव बरामदगी के बाद हुई किरकिरी को रोकने के लिए ड्रोन का भी उपयोग किया जा रहा है। गंगा में महाजाल भी लगाए गए हैं।

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x