प्रधान पद प्रत्याशी सरोज रानी एवं अभिकर्ता पति अशोक जायसवाल नें बैयलेट की हेरा फेरी वह मतगणना में धांधली संबंधी शिकायती प्रार्थना पत्र उप जिलाधिकारी दुद्धी को सौंपा

Crime journalist(सह-सम्पादक डॉ नितेश पांडेय)

आनन्द कुमार चौबे संवाददाता-महुली

*प्रधान पद प्रत्याशी सरोज रानी एवं अभिकर्ता पति अशोक जायसवाल नें बैयलेट की हेरा फेरी वह मतगणना में धांधली संबंधी शिकायती प्रार्थना पत्र उप जिलाधिकारी दुद्धी को सौंपा*

वैध व अवैध मतपत्रों की कुल संख्या पड़े मतों की संख्या से कम होने का लगाया आरोप।।

मतगणना स्थल के बाहर ग्राम पंचायत बुटबेढ़वा वार्ड 12-13 का बैलट पेपर गदा छाप पर मोहर लगा 12BA5782490 सहित सैकड़ों बैलेट पेपर बाहर फेके जाने का आरोप।

महुली।दुद्धी /सोनभद्र विकासखंड अंतर्गत त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में मतगणना स्थल पर ग्राम पंचायत बुटबेढवा प्रधान पद प्रत्याशी सरोज रानी (चुनाव चिन्ह गदा ) व मतगणना स्थल पर अभिकर्ता पति अशोक कुमार जयसवाल ने उपजिलाधिकारी दुद्धी रमेश कुमार को दिए गए शिकायती प्रार्थना पत्र जरिए पंजीकृत डाक दिनांक 4 मई 2021 साथ ही प्रत्याशी व अभिकर्ता द्वारा पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस दुद्धी में उप जिलाधिकारी को शिकायती प्रार्थना पत्र सौंपकर, मतपत्रों की पुनः मतगणना कराए जाने, वैध व अवैध मतों की कुल संख्या, पड़े मतों की संख्या से कम है तथा मतगणना स्थल के बाहर ग्राम पंचायत बुटबेढवा के वार्ड क्रमांक 12 – 13 का बैलेट पेपर संख्या 12 BA 5782 490 जिस पर अधिकारी का हस्ताक्षर व मोहर लगा है को फाड़ कर बाहर फेंका हुआ प्राप्त हुआ के मूल प्रमाण पत्रों आदि की जांच के संदर्भ में शिकायती प्रार्थना पत्र सौंपा गया।

जबकि तत्कालीन मौके पर मौजूद अधिकारी से इसकी शिकायत कर पुनः मतगणना का गुहार लगाया गया, परन्तु उनकी एक न सुनी गई, मतपत्रों की हेरा फेरी, व मतपत्रों की गणना पुनः कराए जाने के संबंध में दिया गया प्रार्थना पत्र के माध्यम से गंभीर आरोप लगाया गया है, प्रकरण को संज्ञान लेकर उप जिला अधिकारी रमेश कुमार ने बीडीओ दुद्धी को प्रकरण की जांच कर रिपोर्ट प्रेषित करने का तत्काल निर्देश दिया गया, ज्ञात कराना है।

कि मीडिया को दिए बयान में प्रत्याशी सरोज रानी ने कहा कि मेरे पति अशोक कुमार जयसवाल मतगणना स्थल पर बतौर अभिकर्ता मौजूद थे उन्होंने पाया कि मतगणना स्थल से बाहर सैकड़ों की संख्या में बैलट पेपर मेरे चुनाव चिन्ह गदा छाप पर मोहर लगा फेका हुआ था।

जिसमें एक अपने हाथ लगा जिसकी शिकायत मौके पर मौजूद अधिकारी से अभिकर्ता ने किया, परंतु उनकी बातों को जानबूझकर अनसुना सोची समझी साजिश के तहत किए जाने का आरोप अभिकर्ता एवं प्रत्याशी द्वारा संयुक्त रूप से लगाए गया है, मूल रूप से उपरोक्त मतपत्र बाहर कैसे आया यह गंभीर जांच का विषय है, जिसको लेकर ग्राम वासियों में भी गहरा आक्रोश देखा जा रहा, उक्त प्रकरण से कई गंभीर सवाल खड़ा किया जा रहा, जिसका जांच उपरांत पर्दाफाश होने की संभावना व्यक्त की जा रही l

सेराज खान / गोविन्द अग्रहरि / नितेश पाण्डेय / श्याम अग्रहरि

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read also x